Posts

Showing posts from July, 2012

कत्लखाने भारत देश का कलंक है

कत्लखानेभारतदेशकाकलंकहै पूज्यउपाध्यायश्रीमणिप्रभसागरजीमहाराजनेता. 21 जुलाई 2012 श्रीजैनश्वेताम्बरखरतरगच्छसंघमुंबईद्वाराआयोजितप्रेसकान्फरेन्समेंकहा- यहअत्यन्तपीडाऔरदु:खकीबातहैकिभारतजैसेधर्मप्राणएवंसांस्कृतिकदेशमेंऔर अधिक  आधुनिकबूचडखानेखोलनेकाआदेशसरकारद्वारादियाजारहाहै। भारतदेशऋषिमुनियोंकादेशहै।कोईभीधर्महमेंहिंसानहींसिखाता।क्यापशुओंकोजीनेका अधिकार नहींहै! भारतदेशजहाँदूधघीकीनदियाँबहतीथी।देशकापशुधनसमाप्तहोरहाहै।अन्यदेशअपनेदेशकेकत्लखानेबंदकररहेहैं।औरभारतदेशकेवलकुछविदेशीमुद्रामेंप्रलोभनमेंअपनेयहाँकत्लखानोंकोअनुमतिदेरहाहै।इससेभारतकापर्यावरणखतरनाकरूपसेदूषितहोरहाहै। पशुओंकोभीजीनेकाउतनाहीअिध्ाकारहै, जितनामनुष्योंको! जिसदेशमेंभगवानमहावीरनेअहिंसाकापाठपढाया! जिसदेशमेंभगवान्बुद्धनेकरूणाकीशिक्षादी! जिसदेशमेंभगवान्श्रीकृष्णनेगोरक्षाकेलियेआदर्शउपस्थितकिये, आजवहीदेशहिंसामेंडूबकरराक्षसोंकाअनुयायीहोताजारहाहै! उन्होंनेकहा- जैनसाहित्यकेअनुसारमेघरथराजाऔरसनातनधर्मकेसाहित्यकेअनुसारशिविराजानेएककबूत

मंत्रीजी ने आशीर्वाद लिया

Image
मंत्रीजीनेआशीर्वादलियामध्यप्रदेशसरकारकेमंत्रीश्रीपारसजैन, उज्जैनपूज्यगुरूदेवउपाध्यायश्रीमणिप्रभसागरजीम.सा. केदर्शनार्थमुंबईपधारे।श्रीजैनश्वेताम्बरखरतरगच्छसंघमुंबईद्वाराउनकाहार्दिकअभिनंदनकियागया।

शिखरजी में चातुर्मास

शिखरजीमेंचातुर्मास पूजनीया पार्श्वमणितीर्थप्रेरिकासाध्वीश्रीसुलोचनाश्रीजीम.सा. वर्धमानतपाराधिकाश्रीसुलक्षणाश्रीजीम.सा. आदिठाणाकीपावननिश्रामेंश्रीसम्मेतशिखरजीमहातीर्थपरचातुर्मासकीआराधनात्यागतपजपवकईकार्यक्रमोंकेसाथभव्यताकेसाथचलरहीहै।देशकेकोनेकोनेसेपधारे 200 से अधिक आराधकवहाँआराधनाकररहेहैं।

श्री मनोहरजी कानूगो सम्मानित

श्रीमनोहरजीकानूगोसम्मानित कईअग्रणीसंस्थाओंसेजुडेसांचोरनिवासीश्रीमनोहरजीकानूगोकोभारतकेराष्ट्रपतिश्रीमतीप्रतिभापाटिलद्वारासम्मानितकरतेहुएउन्हेंसमाजरत्नपदप्रदानकिया। यहसम्मानसमाजकेविभिन्नक्षेत्रोंमेंदियेगयेउनकेद्वारासहयोगकेलियेअर्पितकियागया।श्रीकानूगोजीतो, श्रीजिनदत्तकुशलखरतरगच्छपेढीआदिकईसंस्थाओंकेसक्रियट्रस्टीरहकरअपनीसेवाऐंसंघवशासनकोअर्पितकररहेहैं।श्रीकानूगोश्रीजैनश्वे. खरतरगच्छसंघसांचोरकेअध्यक्ष, श्रीकुशलवाटिकाबाडमेरकेउपाध्यक्ष, श्रीगजमंदिरकेशरियाजीकेउपाध्यक्षपदकाउत्तरदायित्वनिभारहेहैं। सम्मानितकरनेपरदेशकीविभिन्नसंस्थाओंवअग्रणीश्रावकोंनेउन्हेंभावभीनीबधाईदीहै।मूलसांचोरववर्तमान में मुंबईमेंव्यवसायरतश्रीकानूगोसौम्यऔरसहयोगीस्वभावकेधनीहै।उन्होंनेअपनीलक्ष्मीकाउपयोगजनहितवशासनहितमेंउदारताकेसाथकियावकररहेहैं।

दुर्ग में ठाट लगा

Image
दुर्गमेंठाटलगा पूज्यब्रह्मसरतीर्थोद्धारकमुनिश्रीमनोज्ञसागरजीम.सा. पू. मुनिश्रीकल्पज्ञसागरजीम. पू. मुनिश्रीनयज्ञसागरजीम. कीपावननिश्रामेंछत्तीसगढप्रान्तकेदुर्गनगरमेंचातुर्मासकीआराधनाअत्यन्तआनन्दवउल्लासकेसाथचलरहीहै।प्रवचनमेंभारीभीडउपस्थितरहतीहै।प्रतिदिनदोपहरमेंस्वाध्यायकीकक्षामेंअध्यात्म-रसिकलाभप्राप्तकररहेहैं। सिद्धितपआदिबडीतपश्चर्याऐंबडीसंख्यामेंदुर्गनगरकेइतिहासमेंपहलीबारहोरहीहै।

सिवाना- अहमदाबाद से चलेगी ललवानी एक्सप्रेस

मूलसिवानानिवासीश्रीमतीबक्सुदेवीविरधीचंदजीललवानीपरिवारकेश्रीमाणकचंदजीशांतिलालजीदिलीपकुमारजीललवानीपरिवारकीओरसेश्रीसम्मेतशिखरजीआदिपूर्वभारतकेतीर्थोंकीयात्राहेतुस्पेश्यलट्रेनहेतुसंघकाआयोजनकियाजारहाहै।जिसकाशुभमुहूर्त्तप्राप्तकरनेकेलियेललवानीपरिवारअपनेरिश्तेदारों, मित्रोंकेसाथगाजतेबाजतेपूज्यश्रीकीसेवामेंता. 22 जुलाई 2012 कोपहुँचा। पूज्यश्रीने 21 दिसम्बर 2012 कासिवानासेतथा 23 दिसम्बर 12 काअहमदाबादसेप्रयाणकाशुभमुहूर्त्तप्रदानकिया।जिसेश्रवणकरललवानीपरिवारहर्षसेनृत्यकरनेलगा। इसअवसरपरपूज्यश्रीनेफरमाया- शास्त्रोंमेंतोछहरीपालितसंघकाविधानहै।आपकोयहशुभमुहूर्त्तइससंकल्पकेसाथप्रदानकियाजारहाहैकिपाँचवर्षोंकेभीतरआपकोछहरीपालितसंघकालाभलेनाहै।आपतीर्थोंकीयात्राकरनेजारहेहैं।वहयात्रानिर्दोषहो, रात्रिभोजनकासर्वथात्यागहो, सामायिक, प्रतिक्रमण, पूजाआदिआराधनाकावातावरणनिर्मितहो।इनबातोंकाविशेषध्यानरखे। इसअवसरपरललवानीपरिवारकीबहुओंनेगीतिकाऐंप्रस्तुतकी।अरूणललवानीनेआभारप्रकटकिया।

सिवाना में चातुर्मास का ठाट

Image
सिवानामेंचातुर्मासकाठाट सिवानाउम्मेदपुरामेंपूज्यधवलयशस्वीसाध्वीश्रीविमलप्रभाश्रीजीम.सा. कीशिष्यापूजनीयासाध्वीश्रीहेमरत्नाश्रीजीम. जयरत्नाश्रीजीम. नूतनप्रियाश्रीजीम. ठाणा 3 काचातुर्मासआराध्ानाआदिकेसाथचलरहाहै।प्रवचनोंमेंश्रावकश्राविकाओंकीअनुमोदनीयउपस्थितिरहतीहै। पिछलेदिनोंश्रीनेमिनाथप्रभुकेजन्मवदीक्षाकल्याणककेअवसरपरनाटिकाकाआयोजनकियागया।जिसेखूबसराहागया।

श्री गौडी पार्श्वनाथ मूर्तिपूजक संघ सांचोर के ट्रस्टियों का स्वागत

श्रीगौडीपार्श्वनाथमूर्तिपूजकसंघसांचोरकेट्रस्टियोंकास्वागत कांतिमणिनगर, मुंबई! पूज्यगुरूदेवउपाध्यायश्रीमणिप्रभसागरजीम.सा. कीपावननिश्रामेंश्रीजैनश्वेताम्बरखरतरगच्छसंघमुंबईद्वाराश्रीजैनश्वेताम्बरगौडी पार्श्वनाथमूर्तिपूजकसंघपेढीकेट्रस्टियोंकाभावभीनाअभिनंदनकियागया। इसअवसरपरप्रवचनफरमातेहुएपूज्यउपाध्यायश्रीनेफरमाया- आपसभीपुण्यशालीहैकिवीतरागपरमात्माकेशासनकीसेवाकाआपकोअनूठाअवसरउपलब्धहुआहै।यहध्यानमेंलेंकिअध्यक्ष, महामंत्री, कोषाध्यक्ष, ट्रस्टीबहुमानवाचीपदनहींहै, अपितुजिम्मेदारीभरापदहै।येपदनहींबल्किजिम्मेदारीहैं।ट्रस्टीकोचाहियेकिवहअपनेव्यक्तिगतस्वार्थोंसेउपरउठकरशासनऔरसंघकेहितमेंकार्यकरे।संघसर्वोपरिहै। हमेंसंघकीसेवाकरनेकेलियेअपनेसमस्तस्वार्थोंकात्यागकरनाहै।मेरानिवेदनहैकिआपसकलसंघकोसाथलेकरचले।सभीकेप्रेमकोसंपादितकरतेहुएशासनवसंघकेप्रतिअपनासमर्पणभावव्यक्तकरें।निश्चितहीआपकेनेतृत्वमेंशासनवसंघकानामऔरआगेविकासकेपथपरबढेगा। इसअवसरपरश्रीगौडीपार्श्वनाथजैनश्वेताम्बरमूर्तिपूजकसंघकेनवनिर्वाचितअध्यक्षश्रीसी.बी. जैनवट्रस्टियोंकाहार्दिकअभिनंदनकियागया। इसअवसरपरश्रीगौडीपार्श्वनाथ

इचलकरंजी समाचार

Image
इचलकरंजीसमाचार पूजनीयाधवलयशस्वीगुरूवर्याश्रीविमलप्रभाश्रीजीम.सा. आदिठाणाकाचातुर्मासअत्यन्तहर्षउल्लास, आराधनावशासनप्रभावनाकेसाथगतिमानहै।मणिधारीभवनमेंचलरहेइसचातुर्मासमेंसकलश्रीसंघलाभप्राप्तकररहाहै। प्रवचनकेअलावासोमवारसेशुक्रवारतकजीवविचारतत्वज्ञानकीकक्षाचलरहीहै।शनिवारकोमहिलाओंकातथारविवारकोबच्चोंकाशिविरआयोजितकियाजाताहै।सिद्धितपआदितपश्चर्याचलरहीहै। श्रीनेमिनाथपरमात्माकेजन्मकल्याणककेअवसरपरनाटिकाकाभव्यआयोजनकियागया।

उदघाटन संपन्न

उदघाटनसंपन्न पूज्यगुरूदेवउपाध्यायप्रवरश्रीमणिप्रभसागरजीम.सा. केचातुर्मासस्थलकपोलवाडीकोकान्तिमणिनगरनामदियागयाहैजिसकेउदघाटनकालाभमूलगढसिवानावर्तमानमेंअहमदाबादनिवासीसंघवीश्रीअशोककुमारजीमानमलजीभंसालीपरिवारद्वारालियागया।अतिथिगणोंकीसाधर्मिकभक्तिहेतुगुरूगौतमनगरकानामकरणकियागया।जिसकालाभगढसिवाना- अहमदाबादनिवासीसंघवीशा. वंसराजजीकुशलकुमारजीभंसालीद्वारालियागया।प्रवचनमंडपकानामकरणश्रीजिनदत्तसुखसागरप्रवचनमंडपरखागया, जिसकेउदघाटनकालाभगढसिवाना- अहमदाबाद- मुंबईनिवासीसंघवीशा. चौथमलजीसुरेशकुमारजीजयन्तिलालजीभंसालीपरिवारद्वारालियागया। इनतीनोंनगरोंकाभव्यउदघाटनता. 8 जुलाई 2012 रविवारकोअत्यन्तआनन्दवउल्लासकेसाथसंपन्नहुआ।

धूलिया में शासन प्रभावना

Image
महाराष्ट्रप्रान्तकेधूलियाशहरमेंपूजनीयागुरूवर्याखान्देशशिरोमणिश्रीदिव्यप्रभाश्रीजीम.सा. पू. मयणरेहाश्रीजीम. पू. विरागज्योतिश्रीजीम. पू. विश्वज्योतिश्रीजीम. पू. जिनज्योतिश्रीजीम. ठाणा 5 काचातुर्मासत्यागतपसाधनाआराधनाकेसाथचलरहाहै। पूज्यासाध्वीश्रीविश्वज्योतिश्रीजीम.सा. केप्रभावशालीप्रवचनोंकोश्रवणकरनेकेलियेभीडउमडपडतीहै।काँलेजआदिमेंआपकेप्रवचनोंनेसंस्कारोंकाअनूठावातावरणखडाकियाहै।तपश्चर्याकेसाथसाथकईपारिवारिक, सामाजिकशिविरआदिकाआयोजनचलरहाहै।

बाडमेर की कुशल वाटिका का कार्य प्रगति पर

Image
बाडमेर-अहमदाबादमुख्यमार्गपरचौहटननिवासीश्रीआसुलालजीडोसीपरिवारद्वारासमर्पित 150 बीघाविशालभूखण्डपरकुशलवाटिकाकार्यप्रगतिपरहै।
पूजनीयाबहिनम. डाँ. विद्युत्प्रभाश्रीजीम.सा. कीपावनप्रेरणासेबनरहीयहकुशलवाटिकाशिक्षाजगतकोसमर्पितहै। पूजनीयाबहिनम. नेएकसपनादेखाथाकिसमाजमेंजबतकसंस्कारयुक्तशिक्षाकावातावरणनहींबनेगा, तबतकभावीपीढीमेंधर्मकीस्थापनानहींहोसकती। इसीसपनेकोसाकारकरनेकेलियेट्रस्टमंडलअथकप्रयासकररहाहै।योजनाकेअन्तर्गतस्कूलकीआलीशानबिल्डींगतैयारहोकरशिक्षाप्रारंभहोचुकीहै।गतवर्षसेप्रारंभइसस्कूलमेंअभी 400 छात्रअंग्रेजीमाध्यमसेसंस्कारीशिक्षाप्राप्तकररहेहैं।मात्रएकवर्षमेंइसस्कूलनेशहरमेंअपनीविशिष्टछापअंकितकीहै। कुशलवाटिकामेंजिनमंदिर, दादावाडी, धर्मशाला, उपाश्रय, प्रवचनहाँल, भोजनशाला, कार्यालय, प्याऊ, संघभवन, आयंबिलभवनआदिकानिर्माणहोचुकाहै।दूसरीस्कूलवविशालछात्रावासकानिर्माणकार्यतीव्रगतिसेचलरहाहै।जिनमंदिरदादावाडीकाकार्यपूर्णाहुतिपरहै।भविष्यमेंयहाँ 56 फीटऊँचेसमवशरणपर 52 फीटकीदादागुरूदेव