Posts

Showing posts from November, 2012

Featured Post

Shri JINManiprabhSURIji ms. खरतरगच्छाधिपतिश्री जहाज मंदिर मांडवला में विराज रहे है।

Image
पूज्य गुरुदेव गच्छाधिपति आचार्य प्रवर श्री जिनमणिप्रभसूरीश्वरजी म.सा. एवं पूज्य आचार्य श्री जिनमनोज्ञसूरीजी महाराज आदि ठाणा जहाज मंदिर मांडवला में विराज रहे है। आराधना साधना एवं स्वाध्याय सुंदर रूप से गतिमान है। दोपहर में तत्त्वार्थसूत्र की वाचना चल रही है। जिसका फेसबुक पर लाइव प्रसारण एवं यूट्यूब (जहाज मंदिर चेनल) पे वीडियो दी जा रही है । प्रेषक मुकेश प्रजापत फोन- 9825105823

Jahaj Mandir

Jahaj Mandir

jahaj mandir, maniprabh, mehulprabh

पूज्य गुरुदेव उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. की पावन निश्रा में श्री जिनकान्तिसागरसूरि स्मारक ट्रस्ट, जहाज मंदिर, मांडवला की ओर से जैन समाज की विशिष्ट विभूतियों का ‘जैन पद्मश्री’ अलंकरण से अभिनंदन किया जायेगा। यह अभिनंदन समारोह ता. 25 नवम्बर 2012 को प्रात: 10 बजे मुंबई के चर्चगेट स्थित के.सी. काँलेज के आँडिटोरियम में आयोजित किया जायेगा। उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश श्री राजन कोचर को इस समारोह का संयोजक बनाया गया है। समाज के श्री प्रशान्त झवेरी ने बताया कि इस समारोह में श्री दीपचंदजी गार्डी, दानवीर सेठ श्री कनकराजजी लोढा, बहुश्रुत विद्वान् डाँ0 जितेन्द्रभाई बी. शाह एवं विधायक श्री मंगलप्रभातजी लोढा का अभिनंदन किया जायेगा। इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री श्री मिलिन्द देवरा, सांसद श्री देवजी भाई पटेल, विधायक श्री भाई जगताप, श्री अमीनभाई पटेल, श्री अरूणभाई गुजराथी आदि विशिष्ट महानुभाव मुख्य अतिथि के रूप में पधारेंगे। समारोह की अध्यक्षता सुप्रसिद्ध सूफी संत श्री अरविन्द गुरूजी करेंगे। इस समारोह के प्रायोजक के रूप में मै. नियो बिल्डर्स के श्री केसरीचंदजी प्रेमचंदजी मेहता परिवार सांचोर वालों ने लाभ लिया है। श्री नरेश मेहता, श्री पुखराज छाजेड, श्री चंपालाल वाघेला, श्री प्रदीप श्रीश्रीश्रीमाल आदि ने इस अवसर पर अधिक से अधिक लोगों से पधारने की अपील की है।

Image
पूज्य गुरुदेव उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. की पावन निश्रा में श्री जिनकान्तिसागरसूरि स्मारक ट्रस्ट, जहाज मंदिर, मांडवला की ओर से जैन समाज की विशिष्ट विभूतियों का ‘जैन पद्मश्री’ अलंकरण से अभिनंदन किया जायेगा। यह अभिनंदन समारोह ता. 25 नवम्बर 2012 को प्रात: 10 बजे मुंबई के चर्चगेट स्थित के.सी. काँलेज के आँडिटोरियम में आयोजित किया जायेगा। उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश श्री राजन कोचर को इस समारोह का संयोजक बनाया गया है। समाज के श्री प्रशान्त झवेरी ने बताया कि इस समारोह में  श्री दीपचंदजी गार्डी, दानवीर सेठ श्री कनकराजजी लोढा, बहुश्रुत विद्वान् डाँ0 जितेन्द्रभाई बी. शाह एवं विधायक श्री मंगलप्रभातजी लोढा का अभिनंदन किया जायेगा। इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री श्री मिलिन्द देवरा, सांसद श्री देवजी भाई पटेल, विधायक श्री भाई जगताप, श्री अमीनभाई पटेल, श्री अरूणभाई गुजराथी आदि विशिष्ट महानुभाव मुख्य अतिथि के रूप में पधारेंगे। समारोह की अध्यक्षता सुप्रसिद्ध सूफी संत श्री अरविन्द गुरूजी करेंगे। इस समारोह के प्रायोजक के रूप में मै. नियो बिल्डर्स के श्री केसरीचंदजी प्रेमचंदजी मेहता परिवार सांचोर वालो…

जैन पद्मश्री अलंकरण

Image
पूज्य गुरुदेव उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. की पावन निश्रा में श्री जिनकान्तिसागरसूरि स्मारक ट्रस्ट, जहाज मंदिर, मांडवला की ओर से जैन समाज की विशिष्ट विभूतियों का ‘जैन पद्मश्री’ अलंकरण से अभिनंदन किया जायेगा। यह अभिनंदन समारोह ता. 25 नवम्बर 2012 को प्रात: 10 बजे मुंबई के चर्चगेट स्थित के.सी. कोलेज के ओडिटोरियम में आयोजित किया जायेगा। इस समारोह में स्वनाम धन्य श्री दीपचंदजी गार्डी, दानवीर सेठ श्री कनकराजजी लोढा, बहुश्रुत विद्वान् डॉ. जितेन्द्रभाई बी. शाह एवं विधायक श्री मंगलप्रभातजी लोढा का अभिनंदन किया जायेगा। इस अवसर पर कई केन्द्रीय मंत्री व विधायक आदि महानुभावों की उपस्थिति रहेगी। इस समारोह का संपूर्ण लाभ नियो बिल्डर के श्री केसरीचंदजी प्रेमचंदजी मेहता परिवार सांचोर वालों ने लिया है .jahaj mandir, maniprabh, mehulprabh

नंदुरबार से बलसाणा पैदल संघ

Image
पूज्य गुरुदेव उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. की निश्रा में नंदुरबार से बलसाणा तीर्थ का चार दिवसीय छहरी पालित पैदल संघ ता. 12.12.12 को प्रस्थान करेगा, जो 15 दिसम्बर को बलसाणा तीर्थ पर पहुँचेगा।
नंदुरबार निवासी श्री हरकचंदजी चंदनमलजी तातेड परिवार संघ का शुभ मुहूर्त प्राप्त करने के लिये 28 अक्टूबर को मुंबई में पूज्य गुरुदेवश्री की निश्रा में उपस्थित हुआ और निश्रा प्रदान करने व मुहूर्त प्रदान करने हेतु विनंती की। पूज्यश्री ने स्वीकृति प्रदान करते हुए मिगसर वदि 14 ता. 12 दिसम्बर का शुभ मुहूर्त प्रदान
किया।jahaj mandir, maniprabh, mehulprabh

श्री जिनहरि विहार समिति के चुनाव संपन्न

पूज्य गुरूदेव उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. की निश्रा में एवं समिति अध्यक्ष संघवी श्री विजयराजजी डोशी की अध्यक्षता में श्री जिनहरिविहार समिति, पालीताणा की बैठक हुई जिसमें लगभग 15 से अधिक ट्रस्टियों की उपस्थिति रही। श्री जिनहरि विहार धर्मशाला के कार्य पर परम संतोष व्यक्त किया गया। दिनों दिन हरि विहार की जाहोजलाली बढ रही है। यात्रिायों का आवागमन, उन्हें मिल रहा पूरा संतोष... यह समिति की पूंजी है।
साथ ही यहाँ बिराज रहे खरतरगच्छ संघ के समस्त साधु साध्वियों की वैयावच्च अत्यन्त मनोयोग से हो रही है, यह प्रसन्नता का विषय है।
निर्णय किया गया कि पीछे जो ज्ञान मंदिर बना है, उसका पूरा जीर्णोद्धार करवाया जाये। जिसमें विशाल भोजनशाला व कमरों का निर्माण करवाया जावें।
ट्रस्ट मंडल का कार्यकाल पूर्ण होने के कारण निवेदन किया गया कि आगामी तीन वर्षों के लिये नये ट्रस्ट मंडल का गठन किया जावे।
पूज्यश्री ने ट्रस्टियों से विचार विमर्श कर इस प्रकार ट्रस्ट मंडल की घोषणा की-
संघवी श्री विजयराजजी डोसी बैंगलोर- अध्यक्ष
श्री वीरेन्द्रकुमारजी मेहता चेन्नई- उपाध्यक्ष
संघवी श्री अशोककुमारजी भंसाली अहमदाबाद- उपाध्यक्ष
श्री …

KUMARPAL BHAI V. SHAHKUMARPAL BHAI V. SHAHKUMARPAL BHAI V. SHAHKUMARPAL BHAI V. SHAH

Image

चौथे दादा गुरूदेव की 399वीं पुण्यतिथि मनाई गई

Image
चतुर्थ दादा गुरूदेव अकबर प्रतिबोधक श्री जिनचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की 399वीं पुण्यतिथि मुंबई महानगर में आसोज वदि 2 ता. 2 अक्टूबर 2012 को हर्षोल्लास के साथ मनाई गई।
इस उपलक्ष्य में प्रात: 9 बजे कान्ति मणि नगर कपोलवाडी में गुणानुवाद सभा का आयोजन किया गया। पूज्य गुरूदेव उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी म. भारत जैन महामंडल के विश्व मैत्री दिवस के सामूहिक कार्यक्रम में पधरना हुआ था। पूज्य मुनिराज श्री मनितप्रभसागरजी म.सा. ने दादा गुरूदेव के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा- दादा गुरूदेव ने शिथिलाचार का विरोध करते हुए श्रमण संघ के आचार को सुविशुद्ध किया था। पू. साध्वी श्री श्रद्धान्जनाश्रीजी म.सा. ने गुरूदेव के विशिष्ट व्यक्तित्व का वर्णन करते हुए श्रद्धा पुष्प समर्पित किये। मुमुक्षु कुमारी नीलिमा भंसाली ने गीतिका प्रस्तुत की।
प्रात: 10 बजे पूज्य मुनिराज श्री कुशलमुनिजी म.सा. की निश्रा में भायखला दादावाडी में दादा गुरूदेव की पूजा का भव्य आयोजन किया गया। पूजा के बाद स्वामिवात्सल्य का आयोजन किया गया।
jahaj mandir, maniprabh, mehulprabh