Posts

Showing posts from 2013

1st DADA GURUDEV SHREE JINDUTTSURIJI MS

Image
1st DADA GURUDEV SHREE JINDUTTSURIJI MS

SHREE GOUTAM SWAMIJI

Image

FIRST DADA GURUDEV SHREE JINDUTTSURIJI MS

Image
दादा गुरुदेव श्री जिनदत्तसूरिजी म.सा.


Samayik Benefits

सामायिक का लाभ  
          Samayik Benefits
1. समता पूर्वक करने से 92 करोड़ 59 लाख 24 हजार 925 पल्योपम (अर्थात् असंख्य वर्ष) जितना देव आयुष्य का बंधन होता है।
2. 20 मन की एक खंड़ी होती है-ऐसी लाख लाख सोने की खंडी एक लाख वर्ष तक प्रतिदिन कोई दान दे और दूसरा कोई एक सामायिक करें तो वह दान देने का पुण्य सामायिक के बराबर नहीं आ सकता।
3. नरक गति के बंध को तोडने की ताकत सामायिक में है ।
4. सामायिक करने से चार प्रकार के धर्म का पालन होता है।1. दान धर्मः- चौदह राजलोक के 6 कायिकजीवों को अभयदान मिलता है।
2. शील धर्मः- सामायिक में शीलव्रत का पालन होता है। बालको से बालिका या
स्त्री का एवं बालिकाओं से बालकों या पुरुष का स्पर्श नही किया जा सकता ।
3. तप धर्मः- सामायिक में चारों प्रकार के आहार का त्याग होने के कारण तप
धर्म तथा काय क्लेश रुपी तप होता है।
4. भाव धर्मः- सामायिक की क्रिया भावपूर्वक करनी होती है। इस प्रकार चारों
धर्मो की आराधना हो जाती है।
5. श्राद्ध विधि प्रकरण ग्रंथ में लिखा हुआ है कि घर के बजाय उपाश्रय में सामायिक करने से एक आयंबिल तप का लाभ प्राप्त होता है।
6. जो जीव मोक्ष…

DADA GURUDEV MANIDHARI SHREE JINCHANDRASURIJI MS

Image
DADA GURUDEV MANIDHARI SHREE JINCHANDRASURIJI MS

DADA GURUDEV SHREE JINKUSHALSURIJI MS

Image
DADA GURUDEV SHREE JINKUSHALSURIJI MS

DIKSHARTHI AMR RHO...

Image

BILADA JINCHANDRASURIJI MS

Image
BILADA JINCHANDRASURIJI MS

lATEST nEWS lINK uPDATE aLL lINKS aRE iMPORTANT

पालीताना में प्रतिष्ठा संपन्न

Image
विश्व विख्यात तीर्थ पालीताना में श्री कुंथनाथ जिन मंदिर व दादावाडी की
प्रतिष्ठा आज पूज्य आचार्य भगवंत श्री जिनकान्तिसागरसूरीश्वरजी महाराज
साहब के शिष्य पूज्य गुरुदेव उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी महाराज साहब
आदि साधु साध्वी मंडल की परम पावन निश्रा में अत्यन्त उल्लास एवं आनन्द
के साथ संपन्न हुई। यह मंदिर पूज्या साध्वी श्री शशिप्रभाश्रीजी म. की
पावन प्रेरणा से जिनेश्वरसूरि खरतरगच्छ भवन में निर्मित हुआ है।

JAHAJ MANDIR MONTHLY MAGAZINE DECEMBER 2013

चितलवाना से श्री शंखेश्वर महातीर्थ छ:री पालित संघ

Image
पूज्य गुरुदेव उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. की पावन निश्रा में चितलवाना से श्री शंखेश्वर महातीर्थ का छह री पालित संघ आयोजित होगा।
चितलवाना निवासी शा. दलीचंदजी मिश्रीमलजी मावाजी मरडिया परिवार ने पालीताना में ता. 20 नवम्बर 2013 को अपने सगे संबंधियों लगभग 300 लोगों के साथ उपस्थित होकर पूज्यश्री से अपनी निश्रा प्रदान करने व संघ प्रस्थान व माला का शुभ मुहूर्त्त प्रदान करने की भावभीनी विनंती की। जिसे पूज्यश्री ने स्वीकार करते हुए ता. 21 जनवरी 2014 का संघ प्रस्थान का शुभ मुहूर्त्त प्रदान किया।

साधू समाचार

0 पूज्यगुरुदेवउपाध्यायश्रीमणिप्रभसागरजीम.सा. आदिठाणापालीतानाबिराजरहेहैं।उनकीपावननिश्रामेंनवाणुंयात्रााकाआयोजनचलरहाहै।ता. 30 दिसम्बरकोसंघवीमालाविधनकेपश्चात् 31 दिसम्बरकोअहमदाबादहोतेहुएचितलवानाकीओरविहारकरेंगे। 0 पूज्यमुनिराजश्रीमनोज्ञसागरजीम.सा. आदिठाणा 2 महासमुन्दचातुर्मासकीसंपन्नताकेपश्चात्रायपुर, कैवल्यधमहोतेहुएपुन: महासमुन्दपधरगयेहैं।उनकीनिश्रामेंश्रीसम्मेतशिखरजीतीर्थकेलियेछहरीपालितसंघकाआयोजनहोरहाहै। 13 दिसम्बरकोसंघकाप्रस्थानहोगा।

साध्वीजी समाचार

0 पूजनीयाप्रवर्तिनीश्रीकीर्तिप्रभाश्रीजीम.सा.आदिठाणाइन्दौरनगरमेंबिराजरहेहैं।वहाँसेजावराअष्टापदतीर्थकीहोनेवालीप्रतिष्ठामेंपधरेंगे।
0 पूजनीयाप्रवर्तिनीश्रीचन्द्रप्रभाश्रीजीम.सा. आदिठाणासूरतशीतलवाडीउपाश्रयसे 13 दिसम्बरकोविहारकरमाँडलटाउनपधरेंगे, मौनएकादशीकेबादकोलकाताकीओरविहारकरेंगे। 0 पूजनीयासाध्वीश्रीसुलोचनाश्रीजीम.सा. श्रीसुलक्षणाश्रीजीम.सा. आदिकाकोलकातामेंचातुर्मासकीसंपन्नताकेपश्चात्उपनगरोंमेंभ्रमणकररहेहैं। 1 दिसम्बरकोसम्मेतशिखरतीर्थकीओरविहारकियाहै।

JAHAJ MANDIR MAGAZINE DEC-2013

Image
jahaj mandir, maniprabh, mehulprabh, kushalvatika, JAHAJMANDIR, MEHUL PRABH, kushal vatika, mayankprabh, Pratikaman, Aaradhna, Yachna, Upvaas, Samayik, Navkar, Jap, Paryushan, MahaParv, jahajmandir, mehulprabh, maniprabh, mayankprabh, kushalvatika, gajmandir, kantisagar, harisagar, khartargacchha, jain dharma, jain, hindu, temple, jain temple, jain site, jain guru, jain sadhu, sadhu, sadhvi, guruji, tapasvi, aadinath, palitana, sammetshikhar, pawapuri, girnar, swetamber, shwetamber, JAHAJMANDIR, www.jahajmandir.com, www.jahajmandir.blogspot.in,

Babulalji Luniya Dancing in Palitana

USHAJI BOTHRA SPEECH

GOUTAMJI BOTHRA SPEECH

Jahaj Mandir Magazine

Babulalji Mardiya Sanghvi, Dancing

MAA KA PYAR

राष्ट्रसंत आचार्य जिनकान्तिसागरसूरि की 28वीं पुण्यतिथि मनाई गई

Image
पालीताना, 25 नवम्बरआज पूज्य गुरुदेव उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. की पावन निश्रा में पूज्य गुरुदेव आचार्य भगवंत श्री जिनकान्तिसागरसूरीश्वरजी म.सा. की 28वीं पुण्यतिथि हर्षोल्लास के साथ मनाई गई।

पालीताणा में चार मुमुक्षुओं की दीक्षा संपन्न

Image
पूज्य गुरुदेव उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. आदि ठाणा की पावन निश्रा में आज चार वैरागी मुमुक्षुओं बाडमेर निवासी 42 वर्षीय श्री गौतमचंदजी बोथरा, उनकी धर्मपत्नी 36 वर्षीय श्रीमती सौ. उषादेवी, उनके सुपुत्र 17 वर्षीय भरतकुमार एवं 13 वर्षीय आकाश कुमार बोथरा की भागवती दीक्षा आज अत्यन्त आनन्द व उल्लास के साथ संपन्न हुई।

जैन मयूर मंदिर की वार्षिक ध्वजा का भव्य आयोजन संपन्न

Image
अध्यात्मभविष्यकीरोशनी
- उपाध्यायमणिप्रभसागर
पालीताणा, आजश्रीजिनहरिविहारस्थितश्रीआदिनाथजैनमयूरमंदिरकीवार्षिकध्वजाकाभव्यआयोजनसंपन्नहुआ।ध्वजाकालाभश्रीमतीपुष्पाजीजैननेलिया।इसअवसरपरसतरहभेदीपूजावअठारहअभिषेककाआयोजनकियागया।जैनश्वे. खरतरगच्छसंघकेउपाध्यायप्रवरपूज्यगुरूदेवमरूध्ारमणिश्रीमणिप्रभसागरजीम.सा. आजश्रीजिनहरिविहारध्ार्मशालामेंप्रवचनफरमातेहुएकहा- अधिकतरहमारासमयवागोलनेमेंव्यतीतहोताहै।वागोलनेमेंआनंदहोतानहींहै।परहमअनुभवकरलेतेहैं।क्योंकिवागोलनेमेंकरनाकुछनहींपडता।

बाड़मेर में छ: मुमुक्षुओं के ऐतिहासिक वर्षीदान वरघोड़े में उमड़ा जनसैलाब

Image
बाड़मेर मेंछ: मुमुक्षुओंकेऐतिहासिकवर्षीदानवरघोड़ेमेंउमड़ाजनसैलाब जगह-जगहपुष्पवर्षासेस्वागत बाड़मेर।थारनगरीबाड़मेरकेइतिहासमेंपहलीबारएकहीपरिवारकेचारमुमुक्षुगौतमबोथरा, उषाबोथरा, भरतबोथरा, आकाशबोथराकीदीक्षा 20 नवम्बरकोपालीताणामें, मुमुक्षुभावनासंखलेचाकी 7 दिसम्बरकोअहमदाबादएवंमुमुक्षुसीमाछाजेड़की 8 दिसम्बरकोपालीताणामेंदीक्षाहोगी।जिसकाबाड़मेरखरतरगच्छसंघनेवर्षीदानकाऐतिहासिकवरघोड़ानिकालाजिसमेंशहरकेश्रद्धालुओंकाभारीजनसैलाबउमड़पड़ा।

Palitana Dharmshalas Contact Number

Palitana Dharmshalas Contact NumberJin HARI VIHAR - 9427063096
02848-252653
1. 108 Mantreshwar Parshwadham : 243367

2. 108 Tirth Darshan : 252492 / 242797

3. 5 Bungalow (Anandji Kalyanji Pedhi) : 252476

4. Aagam Mandir : 252195

5. Aarisa Bhuvan Jain Dharamshala : 252157

उपधान तप की मोक्ष माला का कार्यक्रम संपन्न

Image
पालीतानाश्रीजिनहरिविहारधर्मशालामेंचलरहेमहामंगलकारीउपधानतपकीमालाकाविधानआज 8 नवम्बर 2013 कोजैनश्वे. खरतरगच्छसंघकेउपाध्यायप्रवरपूज्यगुरूदेवमरूध्ारमणिश्रीमणिप्रभसागरजीम.सा. कीपावननिश्रामेंलगभग 2 हजारसेअधिकलोगोंकीउपस्थितिमेंऐतिहासिकरूपसेसंपन्नहुआ।

उपधान तप की माला का भव्य वरघोडा संपन्न पालीताणा,

Image
पालीतानाश्रीजिनहरिविहारधर्मशालामेंचलरहेमहामंगलकारीउपधानतपकीमालाका 7 नवम्बर 2013 कोभव्यवरघोडाआयोजनसंपन्नहुआसुबह 10 बजेप्रारंभहुआवरघोडातलेटीदर्शनकरश्रीजिनहरिविहारस्थितसमवशरणपाण्डालमेंपहुँचा, जहाँपूज्यगुरुदेवश्रीकामांगलिकप्रवचनहुआ।

GURUDEV KO VANDAN

Image

Jahaj Mandir

Image

MANGLIK by GURUDEV MANIPRABHSAGARJI MS

रोशनी में खुद को रोशन करों

Image
- उपाध्यायमणिप्रभसागर पालीताणा, जैनश्वे. खरतरगच्छसंघकेउपाध्यायप्रवरपूज्यगुरूदेवश्रीमणिप्रभसागरजीम.सा. नेआजश्रीजिनहरिविहारमेंदीपावलीकेपावनअवसरपरप्रवचनफरमातेहुएकहा- आजकादिनपरमात्मामहावीरकेनिर्वाणोत्सवकाअवसरहै।दीपपंक्तियोंकेजगमगातेप्रकाशमेंपरमात्मा

JAY PALITANA ... JAI ADINATH ... JAY GURUDEV....

Image

UJJAIN AVANTI PARSWANATH JIRNODDHAR

Image
UJJAIN AVANTI PARSWANATH JIRNODDHAR
.

DADA SHREE JINKUSHAL GURUDEV

Image

अपने घर की याद ही समझदारी है

Image
- उपाध्याय मणिप्रभसागर पालीताणा, 
जैन श्वे. खरतरगच्छ संघ के उपाध्याय प्रवर पूज्य गुरूदेव मरूध्ार मणि श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. ने आज श्री जिन हरि विहार ध्ार्मशाला में उपधान तप की आराधना के अंतर्गत प्रवचन फरमाते हुए कहा- अब हमें अपने घर की याद आने लगी है। मेरा कोई घर है, यह तो मैं लम्बे समय से जानता हूॅं। पर अभी तक पाया नहीं है। इसे पाने के लिये मैंने यात्रा तो बहुत की है। पर मिला अभी तक नहीं है।

लक्ष्य के अनुसार हो मन का निर्माण - उपाध्याय मणिप्रभसागर

Image
पालीताणा, 18 अक्टूबर! जैनश्वे. खरतरगच्छसंघकेउपाध्यायप्रवरपूज्यगुरूदेवमरूध्ारमणिश्रीमणिप्रभसागरजीम.सा. नेआजश्रीजिनहरिविहारध्ार्मशालामेंउपधानतपकीआराधनाकेअंतर्गतप्रवचनफरमातेहुएकहा- हमेंमनकेअनुसारजीवनकानिर्माणनहींकरनाहै।बल्किजीवनकेलक्ष्यके

उपकारी को कभी न भूलो

Image
उपाध्यायमणिप्रभसागर पालीताणाजैनश्वे. खरतरगच्छसंघकेउपाध्यायप्रवरपूज्यगुरूदेवमरूधरमणिश्रीमणिप्रभसागरजी.सा.कीपावननिश्रामेंआजश्रीजिनहरिविहारधर्मशालामेंश्रीनवपदजीकीओलीकेआखिरीदिनप्रवचनफरमातेहुएकहा- जीवनमेंहरव्यक्तिकेसाथदोघटनाऐंहोतीहै।