Palitana Hari Vihar पालीताना - हरिविहार में ध्वजारोहण संपन्न

विश्व विख्यात श्री पालीताणा तीर्थ स्थित श्री जिन हरि विहार धर्मशाला के श्री आदिनाथ परमात्मा से सुशोभित मयूर मंदिर का 13वां वार्षिक ध्वजारोहण का कार्यक्रम दि. 24 नवंबर 2015 को आनन्द व उल्लास के साथ संपन्न हुआ। 


कायमी ध्वजा के लाभार्थी श्रीमती पुष्पाजी अशोकजी जैन परिवार द्वारा जिन मंदिर पर ध्वजा चढाई गई। प्रात: अठारह अभिषेक का आयोजन किया गया। सतरह भेदी पूजा पढाई गई। 
यह समारोह पूज्य मुनिवर श्री मयंकप्रभसागरजी म., पू. मुनि श्री मेहुलप्रभसागरजी म., पू. मुनि श्री मौनप्रभसागरजी म., पू. मुनि श्री मोक्षप्रभसागरजी म., पू. मुनि श्री मननप्रभसागरजी म., पू. मुनि श्री कल्पज्ञसागरजी म. आदि ठाणा एवं पूजनीया खान्देश शिरोमणि श्री दिव्यप्रभाश्रीजी म.सा. प्रियदर्शनाश्रीजी म. आदि साध्वी मंडल की पावन निश्रा में संपन्न हुआ। 

इस अवसर पर मंत्री श्री बाबुलालजी लूणिया, कोषाध्यक्ष मेहता पुखराजजी तातेड, संघवी माणकचंदजी ललवाणी आदि ट्रस्टी उपस्थित थे। साथ ही जवेरीलालजी बच्छावत फलोदी, पीयुषभाई भावसार वडोदरा, कस्तुरचंदजी कोचर चैन्नई, सुरेशजी डोसी इन्दौर, मांगीलालजी बरडिया वाण्याविहीर, प्रदीपजी कांकरिया गढसिवाणा, मनसुखजी पारख बाडमेर, रमेशजी बोहरा अहमदाबाद, जेठमलजी छाजेड बाडमेर, महावीर छाजेड सहित अनेक प्रभुभक्त उपस्थित थे । 
अभिषेक विधिविधान पंडित भावेश भाई ने करवाया व संगीतकार संजयभाई ने प्रभुभक्ति का रंग जमाया।
इस मंदिर की प्रतिष्ठा वि.सं. 2059 कार्तिक सुदि 13 को पूज्य उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी म. के निर्देशन में संपन्न हुई थी।
प्रेषक भगीरथ शर्मा
jahaj mandir, maniprabh, mehulprabh, kushalvatika, JAHAJMANDIR, MEHUL PRABH, kushal vatika, mayankprabh, Pratikaman, Aaradhna, Yachna, Upvaas, Samayik, Navkar, Jap, Paryushan, MahaParv, jahajmandir, mehulprabh, maniprabh, mayankprabh, kushalvatika, gajmandir, kantisagar, harisagar, khartargacchha, jain dharma, jain, hindu, temple, jain temple, jain site, jain guru, jain sadhu, sadhu, sadhvi, guruji, tapasvi, aadinath, palitana, sammetshikhar, pawapuri, girnar, swetamber, shwetamber, JAHAJMANDIR, www.jahajmandir.com, www.jahajmandir.blogspot.in,

Comments

Popular posts from this blog

Jain Religion answer

Shri JINManiprabhSURIji ms. खरतरगच्छाधिपतिश्री का मालव देश में विचरण

महासंघ की ओर से कामली अर्पण