Navkar prarthna... Namokar Aradhna नवकार आभार प्रार्थना

नमो अरिहंताणं ।।
हे अरिहंत प्रभु !
आप परम योग्य हैंआपकी योग्यता को नमस्कार हो। आपकी प्रेरणा से मेरे भीतर की योग्यताएँ प्रकट हो रही हैं इसलिए आपका आभार-आभार-आभार !

नमो सिद्धाणं
हे सिद्ध प्रभु !
 आप सर्वथा शुद्ध हो । मंज़िल को प्राप्त हो चुके हो। आपकी शुद्ध बुद्ध मुक्त अवस्था को मेरा नमस्कार हो । आपकी प्रेरणा से मैं भी अपनी मंज़िल को प्राप्त हो रहा हूँ इसलिए आपका आभार-आभार-आभार ! धन्यवाद !!


नमो आयरियाणं
हे आचार्य देव !
 आपकी सम्यक् शैलीदृढ़ संकल्प शक्ति व कुशल प्रशासनिक क्षमता को नमस्कार हो। आपकी प्रेरणा से मेरे भीतर सुप्त सम्यक् आचार शैली प्रकट हो रही है इसलिए आपका आभार-आभार-आभार ! धन्यवाद !!

नमो उवज्झायाणं
हे उपाध्याय भगवंत !
 आपकी अनेकांत प्रज्ञा व निष्पक्ष व्याख्या शैली को नमस्कार हो। आपकी कृपा से मेरे भीतर भी सम्यक् प्रज्ञासही निर्णय क्षमता प्रकट हो रही है इसलिए आपका आभार-आभार-आभार ! धन्यवाद !!

नमो लोए सव्व साहूणं
लोक के समस्त साधु सरल आत्माओं को मेरा सतत् नमन हो। आपकी कृपा से मुझमें भी सरलता व निर्दोषिता प्रकट हो रही है इसलिए आपका आभार-आभार-आभार !धन्यवाद !!

jahaj mandir, maniprabh, mehulprabh, kushalvatika, JAHAJMANDIR, MEHUL PRABH, kushal vatika, mayankprabh, Pratikaman, Aaradhna, Yachna, Upvaas, Samayik, Navkar, Jap, Paryushan, MahaParv, jahajmandir, mehulprabh, maniprabh, mayankprabh, kushalvatika, gajmandir, kantisagar, harisagar, khartargacchha, jain dharma, jain, hindu, temple, jain temple, jain site, jain guru, jain sadhu, sadhu, sadhvi, guruji, tapasvi, aadinath, palitana, sammetshikhar, pawapuri, girnar, swetamber, shwetamber, JAHAJMANDIR, www.jahajmandir.com, www.jahajmandir.blogspot.in,

Comments

Popular posts from this blog

Jain Religion answer

Shri JINManiprabhSURIji ms. खरतरगच्छाधिपतिश्री का मालव देश में विचरण

महासंघ की ओर से कामली अर्पण