Palitana Sammelan 2016 मुनि मनोज्ञसागरजी म. का उपाध्याय पदारोहण 11 मार्च को

Palitana Sammelan
पालीताणा स्थित जिनहरि विहार धर्मशाला में चल रहे अखिल भारतीय खरतरगच्छ साधु-साध्वी सम्मेलन के दूसरे दिन बुधवार को णाधीश मणिप्रभसागरजी म. ने अध्यक्षता करते हुये आदेश दिया कि आने वाले 11 मार्च को मुनि मनोज्ञसागर जी म. को उपाध्याय पद, मुनि मणिरत्नसागर जी म. को गणि पद, साध्वी दिव्यप्रभाश्रीजी म. को महत्तरा पद और साध्वी शशिप्रभाश्रीजी म. को प्रवर्तिनी पद विधि-विधान के साथ प्रदान किया जायेगा।
मुनि मेहुलप्रभसागरजी म. ने बताया कि आज प्रात: 9 बजे जिनहरि विहार धर्मशाला से गणाधीश एवं समस्त साधु साध्वी सहित अ.भा. खरतरगच्छ महासम्मेलन के वरिष्ट पदाधिकारी, सदस्य एवं देश भर के खरतरगच्छ संघों के प्रतिनिधियों ने जयजयकार के साथ प्रस्थान कर सम्मेलन सभागृह में प्रवेश किया।
सभा के प्रारंभ में गुरु परंपरा को नमस्कार कर गणाधीश मणिप्रभसागरजी म. ने कहा कि हमारे समुदाय में योग्य साधु साध्वी को विशेष जिम्मेदारी दी जानी चाहिये। जिससे केवल समुदाय की ही नहीं अपितु धर्म की भी प्रगति हो। इस हेतु उपाध्याय आदि पद की घोषणा करते हुये पदारोहण उत्सव 11 मार्च को आयोजित करने का आदेश दिया। गुरुदेव की इस घोषणा के साथ ही सभा मंडप में हर्ष की लहर दौड गयी एवं जयकारे की गूंज से घोषणा का स्वागत किया गया।
मुनि मनोज्ञसागरजी म. एवं मुनि मणिरत्नसागरजी म. ने अपने उद्बोधन में गुरु आज्ञा में अपनी विनम्र स्वीकृति दी। इस अवसर पर बाबुलाल लुणिया, भंवरलाल छाजेड, गौतम संकलेचा, रमेश गोकलानी, मनीष नाहटा, पुरुषोतम सेठिया, भेरु लुणिया, रतनलाल बोहरा, पदमचंद चोधरी, अ’ाोक भंसाली, गौतम मालु, प्रणय श्रीमाल आदि अनेक लोग उपस्थित थे।
प्रेषक- बाबुलाल लुणिया
महामंत्री 
जिन हरि विहार, पालीताणा

jahaj mandir, maniprabh, mehulprabh, kushalvatika, JAHAJMANDIR, MEHUL PRABH, kushal vatika, mayankprabh, Pratikaman, Aaradhna, Yachna, Upvaas, Samayik, Navkar, Jap, Paryushan, MahaParv, jahajmandir, mehulprabh, maniprabh, mayankprabh, kushalvatika, gajmandir, kantisagar, harisagar, khartargacchha, jain dharma, jain, hindu, temple, jain temple, jain site, jain guru, jain sadhu, sadhu, sadhvi, guruji, tapasvi, aadinath, palitana, sammetshikhar, pawapuri, girnar, swetamber, shwetamber, JAHAJMANDIR, www.jahajmandir.com, www.jahajmandir.blogspot.in,

Comments

Popular posts from this blog

Jain Religion answer

Shri JINManiprabhSURIji ms. खरतरगच्छाधिपतिश्री का मालव देश में विचरण

महासंघ की ओर से कामली अर्पण