Dec 14, 2017

साधु साध्वी समाचार

0 पूज्य उपाध्याय प्रवर श्री मनोज्ञसागरजी म. आदि ठाणा 2 बाडमेर में बिराजमान है। उनकी पावन निश्रा में चैहटन से प्रथम बार ब्रह्मसर जैसलमेर लौद्रवाजी अमरसागर तीर्थ हेतु छह री पालित संघ यात्रा का भव्य आयोजन होने जा रहा है। यह संघ 21 दिसम्बर 2017 को चैहटन से प्रस्थान करेगा। माला महोत्सव 9 जनवरी 2018 को ब्रह्मसर में होगा।
0 पूज्य मुनि श्री मुक्तिप्रभसागरजी म. मनीषप्रभसागरजी म. ठाणा 2 पालीताना पधार गये हैं। जहां उनकी निश्रा में पू. साध्वी श्री प्रियश्रद्धांजनाश्रीजी म. की प्रेरणा से नवाणुं यात्रा का भव्य आयोजन होने जा रहा है।
0 पूज्य मुनि श्री कल्पज्ञसागरजी म. चैहटन से विहार कर पालीताना पधार रहे हैं।
0 पूजनीया प्रवर्तिनी श्री शशिप्रभाश्रीजी म. आदि ठाणा विक्रमपुर की प्रतिष्ठा की संपन्नता के पश्चात् बीकानेर पधारे। उन्होंने बीकानेर से ता. 2 दिसम्बर को विहार कर उदयरामसर होते हुए नागोर की ओर विहार किया है।
0 पूजनीया गणिनी प्रवरा श्री सुलोचनाश्रीजी म. सुलक्षणाश्रीजी म. आदि ठाणा कुछ दिनों की चेन्नई में स्थिरता के पश्चात् पाश्र्वमणि तीर्थ पेद्दतुम्बलम की ओर विहार करेंगे।
0 पूजनीया गणिनी प्रवरा श्री सूर्यप्रभाश्रीजी म. पूर्णप्रभाश्रीजी म. आदि ठाणा विहार कर 5 दिसम्बर को अमलनेर पधारे हैं। जलगांव में आपकी निश्रा में आपके 53वें दीक्षा दिवस के उपलक्ष्य में दादावाडी में पाश्र्व पद्मावती महापूजन का भव्य आयोजन ता. 1 दिसम्बर को किया गया। जिसका लाभ लूंकड परिवार के श्रीमती पद्माबाई परिवार ने लिया।
0 पूजनीया माताजी म. श्री रतनमालाश्रीजी म. पू. बहिन म. डा. श्री विद्युत्प्रभाश्रीजी म. पू. डा. साध्वी श्री नीलांजनाश्रीजी म. आदि ठाणा विहार करते हुए नीमच, निम्बाहेडा, भीलवाडा होते हुए बिजयनगर पधारे। जहां उनकी पावन निश्रा में ता. 26 नवम्बर को जाजम के अभूतपूर्व चढावे संपन्न हुए। वहां से विहार कर ता. 30 नवम्बर को ब्यावर पधारे। वहां से जोधपुर होते हुए सिणधरी पधारेंगे।
0 पू. साध्वी श्री सम्यग्दर्शनाश्रीजी म. आदि ठाणा 4 मुंबई से विहार कर दहाणुं पधारे हैं। वहां से वे सूरत, बडौदा होते हुए अहमदाबाद की ओर विहार कर रहे हैं।
0 पूजनीया साध्वी श्री लक्ष्यपूर्णाश्रीजी म. आदि ठाणा गाजियाबाद से विहार कर जयपुर होते हुए ब्यावर पधारे। अभी ब्यावर बिराजमान है।
0 पूजनीया साध्वी श्री कल्पलताश्रीजी म. आदि ठाणा नागोर से विहार कर बीकानेर पधारे। यहां से ता. 3 दिसम्बर को फलोदी की ओर विहार किया है। वे फलोदी होते हुए चैहटन से ब्रह्मसर के संघ में सम्मिलित होंगे।
0 पूजनीया साध्वी डा. शासनप्रभाश्रीजी म. आदि ठाणा 3 पालीताना पधार गये हैं। श्री जिनहरि विहार में बिराजमान है। वहां 15 दिनों की स्थिरता के पश्चात् राजस्थान की ओर विहार करेंगे।
0 पू. साध्वी श्री प्रियस्मिताश्रीजी म. आदि ठाणा 6 कानपुर से विहार कर ता. 5 दिसम्बर को बनारस पधारे हैं।
0 पू. साध्वी श्री प्रियरंजनाश्रीजी म. आदि ठाणा 3 विहार कर चेन्नई पधार गये हैं।
0 पू. साध्वी श्री विरागज्योतिश्रीजी म. विश्वज्योतिश्रीजी म. आदि ठाणा 3 खापर से विहार कर बडौदा पधार गये हैं। कुछ दिनों की स्थिरता के पश्चात् पालीताना की ओर विहार करेंगे।
0 पू. साध्वी श्री संघमित्राश्रीजी म. आदि ठाणा, पू. साध्वी श्री दर्शनप्रभाश्रीजी म. आदि ठाणा 3 नलखेडा से विहार कर रतलाम प्रतिष्ठा महोत्सव में पधारे हैं।
0 पू. साध्वी श्री वसुंधराश्रीजी म. आदि ठाणा 3 चिकित्सा हेतु दुर्ग में बिराजमान है।
0 पू साध्वी श्री मधुरिमाश्रीजी म. आदि ठाणा 4 बडौदा से विहार कर अहमदाबाद पधार गये हैं।
0 पूजनीया साध्वी प्रियश्रद्धांजनाश्रीजी म. आदि ठाणा 3 पालीताना पधार गये हैं। उनकी प्रेरणा से नवाणुं यात्रा का भव्य आयोजन ता. 3 दिसम्बर से प्रारंभ हुआ है।
0 पू. साध्वी श्री प्रियसौम्यांजनाश्रीजी म. आदि ठाणा 4 पालीताना पधार गये हैं। नवाणुं यात्रा में आपकी सानिध्यता रहेगी।
0 पू. साध्वी श्री प्रियस्वर्णांजनाश्रीजी म. आदि ठाणा 3 बीकानेर उदयरामसर प्रतिष्ठा के पश्चात् ता. 3 दिसम्बर की शाम को नागोर की ओर विहार किया है। वे नागोर से पालीताना की ओर विहार करेंगे।

0 पू. साध्वी श्री प्रियंवदाश्रीजी म. प्रशमिता श्रीजी म. आदि ठाणा जैसलमेर चातुर्मास के पश्चात् विहार कर बाडमेर पधार गये हैं। वे चैहटन से ब्रह्मसर तीर्थ छह री पालित संघ में सम्मिलित होंगे।

No comments:

Post a Comment

आपके विचार हमें भी बताएं