महासंघ की ओर से कामली अर्पण

इन्दौर 23 नवंबर। कार्तिक पूर्णिमा के मंगल प्रभात में चातुर्मास परिवर्तन की वेला में अखिल भारतीय श्री जैन श्वेताम्बर खरतरगच्छ महासंघ के अध्यक्ष श्री रिखबचंदजी झाडचूर, महामंत्री श्री रुमिल डी. बोहरा, सहमंत्री श्री धर्मेन्द्र मेहता, कोषाध्यक्ष श्री बाबुलालजी छाजेड, अनिलजी पारख, राजेन्द्रजी नाहर, निर्मलजी ठाकुरिया, नरेन्द्रजी बाफना, प्रकाशजी मालू, डुंगरचंदजी हुंडिया, छगनलालजी हुंडिया, जितेंद्रजी शेखावत, कमलेश ललवाणी, राहुल मेहता व अन्य सदस्यों ने उपस्थित होकर पूज्य गुरुदेव गच्छाधिपति आचार्य श्री जिनमणिप्रभसूरीश्वरजी म.सा. का अभिनंदन करते हुए कामली अर्पण की।
इस अवसर पर सहमंत्री धर्मेन्द्र मेहता ने कहा- आपश्री के गणाधीश पद समारोह के अवसर पर सिंधनूर में महासंघ ने कामली अर्पण की थी। आपश्री के आचार्य पद के अवसर पर आपश्री को कामली अर्पण करने का सौभाग्य हमें प्राप्त नहीं हो सका। अतः आज हम आपश्री को कामली अर्पण करना चाहते हैं।
उन्होंने कहा- आपश्री समयज्ञ हैं, शास्त्रज्ञ हैं, निश्चित ही आपश्री के नेतृत्व में गच्छ दिन दूनी रात चौगुनी प्रगति करेगा।
पूज्यश्री ने कामली स्वीकार करते हुए कहा- हम सभी को हिल-मिल कर गच्छ में पूर्ण रूप से अनुशासन, मर्यादा के साथ एकता का वातावरण निर्मित करना चाहिये ताकि आचार्य जिनेश्वरसूरि द्वारा स्थापित व दादा गुरुदेवों द्वारा सिंचित यह खरतरगच्छ साधना-आराधना आदि हर क्षेत्र में प्रगति के पथ पर आगे बढे।

Comments

Popular posts from this blog

Jain Religion answer

Shri JINManiprabhSURIji ms. खरतरगच्छाधिपतिश्री का मालव देश में विचरण