Showing posts with label Palitana Sammelan 2016. Show all posts
Showing posts with label Palitana Sammelan 2016. Show all posts

Mar 2, 2016

Palitana Sammelan 2016 मुनि मनोज्ञसागरजी म. का उपाध्याय पदारोहण 11 मार्च को

Palitana Sammelan
पालीताणा स्थित जिनहरि विहार धर्मशाला में चल रहे अखिल भारतीय खरतरगच्छ साधु-साध्वी सम्मेलन के दूसरे दिन बुधवार को णाधीश मणिप्रभसागरजी म. ने अध्यक्षता करते हुये आदेश दिया कि आने वाले 11 मार्च को मुनि मनोज्ञसागर जी म. को उपाध्याय पद, मुनि मणिरत्नसागर जी म. को गणि पद, साध्वी दिव्यप्रभाश्रीजी म. को महत्तरा पद और साध्वी शशिप्रभाश्रीजी म. को प्रवर्तिनी पद विधि-विधान के साथ प्रदान किया जायेगा।
मुनि मेहुलप्रभसागरजी म. ने बताया कि आज प्रात: 9 बजे जिनहरि विहार धर्मशाला से गणाधीश एवं समस्त साधु साध्वी सहित अ.भा. खरतरगच्छ महासम्मेलन के वरिष्ट पदाधिकारी, सदस्य एवं देश भर के खरतरगच्छ संघों के प्रतिनिधियों ने जयजयकार के साथ प्रस्थान कर सम्मेलन सभागृह में प्रवेश किया।
सभा के प्रारंभ में गुरु परंपरा को नमस्कार कर गणाधीश मणिप्रभसागरजी म. ने कहा कि हमारे समुदाय में योग्य साधु साध्वी को विशेष जिम्मेदारी दी जानी चाहिये। जिससे केवल समुदाय की ही नहीं अपितु धर्म की भी प्रगति हो। इस हेतु उपाध्याय आदि पद की घोषणा करते हुये पदारोहण उत्सव 11 मार्च को आयोजित करने का आदेश दिया। गुरुदेव की इस घोषणा के साथ ही सभा मंडप में हर्ष की लहर दौड गयी एवं जयकारे की गूंज से घोषणा का स्वागत किया गया।
मुनि मनोज्ञसागरजी म. एवं मुनि मणिरत्नसागरजी म. ने अपने उद्बोधन में गुरु आज्ञा में अपनी विनम्र स्वीकृति दी। इस अवसर पर बाबुलाल लुणिया, भंवरलाल छाजेड, गौतम संकलेचा, रमेश गोकलानी, मनीष नाहटा, पुरुषोतम सेठिया, भेरु लुणिया, रतनलाल बोहरा, पदमचंद चोधरी, अ’ाोक भंसाली, गौतम मालु, प्रणय श्रीमाल आदि अनेक लोग उपस्थित थे।
प्रेषक- बाबुलाल लुणिया
महामंत्री 
जिन हरि विहार, पालीताणा

jahaj mandir, maniprabh, mehulprabh, kushalvatika, JAHAJMANDIR, MEHUL PRABH, kushal vatika, mayankprabh, Pratikaman, Aaradhna, Yachna, Upvaas, Samayik, Navkar, Jap, Paryushan, MahaParv, jahajmandir, mehulprabh, maniprabh, mayankprabh, kushalvatika, gajmandir, kantisagar, harisagar, khartargacchha, jain dharma, jain, hindu, temple, jain temple, jain site, jain guru, jain sadhu, sadhu, sadhvi, guruji, tapasvi, aadinath, palitana, sammetshikhar, pawapuri, girnar, swetamber, shwetamber, JAHAJMANDIR, www.jahajmandir.com, www.jahajmandir.blogspot.in,

Mar 1, 2016

Palitana Sammelan 12 मार्च को होगा आचार्य पदारोहण

पालीताणा स्थित जिनहरि विहार धर्मशाला में आज दि. 1 मार्च से प्रारंभ हुये अखिल भारतीय खरतरगच्छ महासम्मेलन की सम्पूर्णता ऐतिहासिक आचार्य पदारोहण समारोह से होगी।

आज प्रात: सम्मेलन के प्रारंभ में देव गुरु को वंदन कर सम्मेलन का प्रारंभ किया गया। सभा में सभी साधु साध्वी सहित अ.भा. खरतरगच्छ महासम्मेलन के वरिष्ट पदाधिकारी, सदस्य एवं देश भर के खरतरगच्छ संघों के प्रतिनिधियों ने गणाधीश मणिप्रभसागरजी महाराज को आचार्य पद स्वीकार करने के लिए विनती अर्ज की। गणाधीश महाराज ने सभी की विनती को मान देते हुये अपनी विनम्र स्वीकृति दी।

संघ प्रतिनिधियों ने विशेष रूप से आग्रह करते हुये कहा कि इतनी संख्या में साधू साध्वियों एवं श्रावक श्राविकाओं की उपस्थिति और सिद्धाचल की पावन धरा में आचार्य एवं अन्य पदों का पदारोहण एक ऐतिहासिक उपलब्धि एवं गच्छ एकता और विकास का अनूठा उदहारण पेश करेगा। गुरुदेव की इस घोषणा के साथ ही सभा मंडप में हर्ष की लहर दौड गयी एवं जयकारे की गूंज से घोषणा का स्वागत किया गया।

मुनि मनोज्ञसागरजी म. एवं मुनि मणिरत्न सागर जी म. ने अपने उद्बोधन में समुदाय की एकता की आवश्यकता पर जोर दिया।

Feb 14, 2016

Palitana Pravesh जैनों की आस्था स्थली विश्व प्रसिद्ध पालीताणा तीर्थ में आज दि. 14 फरवरी 2016 को गुरुदेव खरतरगच्छाधिपति श्री मणिप्रभसागरजी महाराज आदि विशाल श्रमण-श्रमणी वृंद का भारत के विभिन्न प्रांतों में विचरण करते हुये शोभायात्रा के साथ प्रवेश किया।

 प्रात: आठ बजे शत्रुंजय गेट से प्रवेश यात्रा प्रारंभ हुयी जो हरि विहार स्थित आदिनाथ मंदिर के दर्शन करते हुये तलेटी रोड पर झूमते, नाचते, गाचते, नारा लगाते गुरुभक्तों के साथ श्रमण-श्रमणी वृंद ने सिद्धाचल गिरिराज की आराधना-अर्चना की। साथ ही सम्मेलन के सफलता की कामना की। 

आज गुरुदेव के महासम्मेलन हेतु प्रवेश समारोह में भाग लेने अहमदाबाद, वडोदरा, मुंबई, रायपुर, सुरत, बाडमेर, बेंगलोर सहित अखिल भारत के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

लगभग 6 दशक बाद तीर्थाधिराज पालिताना में देश भर के खरतरगच्छ के साधू साध्वी एव श्रावक श्राविका का समेलन हो रहा है।

गिरिराज आराधना के पश्चात हरि विहार के प्रांगण में स्वागत सभा का आयोजन हुआ।

Dec 10, 2015

Palitana Sammelan 2016 imp information. पालीताना में खरतरगच्छ का साधू साध्वी श्रावक श्राविका सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। यह सम्मेलन ता. 1 मार्च 2016 से 12 मार्च 2016 तक होगा। इसमें त्रिदिवसीय खरतरगच्छ श्रावक श्राविका सम्मेलन का आयोजन किया गया है। जिसमें कुल मिलाकर 7 सत्र होंगे।

सम्मेलन के संबंध में सूचना
पूज्य गुरुदेव खरतरगच्छाधिपति श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. के आदेशानुसार पालीताना में खरतरगच्छ का साधू साध्वी श्रावक श्राविका सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। यह सम्मेलन ता. 1 मार्च 2016 से 12 मार्च 2016 तक होगा। इसमें त्रिदिवसीय खरतरगच्छ श्रावक श्राविका सम्मेलन का आयोजन किया गया है। जिसमें कुल मिलाकर 7 सत्र होंगे।
श्रावक उद्बोधन सत्र में अपने विचारों की अभिव्यक्ति के लिये सकल श्री संघ को सादर आमंत्रण है। निर्णय किया गया है कि जिसे भी अपने विचार सम्मेलन में प्रस्तुत करने हों, उनका नाम स्थानीय संघ द्वारा प्रस्तावित होना अनिवार्य है। आयोजन समिति के पास श्री संघ के लेटर पेड पर अधिकृत पदाधिकारी के हस्ताक्षर युक्त लिखित पत्र प्राप्त होने पर वक्तव्य हेतु उनका नाम वक्ताओं की सूची में अंकित किया जायेगा।
इस पत्र के आने के साथ वक्ता द्वारा दिये जाने वाले वक्तव्य का सार स्वरूप भी लिखित में आना अनिवार्य होगा। सकल खरतरगच्छ संघों से निवेदन है कि वे अवश्य ही अपनी ओर से विचार व्यक्त करने हेतु वक्ता का नाम प्रस्तावित करें।
सकल श्री संघ से निवेदन है कि आप सभी सम्मेलन में अवश्य पधारें । ताकि गच्छ विकास आदि विषयों पर गंभीरता से गहन विचार विमर्श कर निर्णय किये जा सके।
सभी से आग्रह है कि सम्मेलन में विचार विमर्श करने हेतु आप अपने सुझाव अवश्य भिजवावें।
अपने सुझाव व पत्र व्यव्हार  इस पते पर भेजें-
पूज्य गणाधीश श्री मणिप्रभसागरजी म.
श्री जिन हरि विहार धर्मशाला, तलेटी रोड
पो. पालीताना- 364270 जिला- भावनगर, गुजरात

Aug 3, 2015

पूज्य गच्छाधिपतिजी ने की घोषणा... खरतरगच्छ महासम्मेलन पालीताना में 1 मार्च से 12 मार्च 2016 तक... लम्बे समय के बाद खरतरगच्छ श्रमण महासम्मेलन पालीताना में होने जा रहा है। यह सम्मेलन 1 मार्च से प्रारंभ होगा, जो 12 मार्च तक चलेगा।....

sammelam palitana me
इस प्रकार की घोषणा पूज्य गणनायक श्री सुखसागरजी म.सा. के समुदाय के खरतरगच्छाधिपति श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. ने रायपुर प्रवेश के दिन ता. 25 जुलाई को की। पूज्यश्री द्वारा सम्मेलन के स्थान व तिथियों की की गई घोषणा पर उपस्थित विशाल जनसमूह ने जय जयकार के नादों से बधाया।
पूज्यश्री ने कहा- समस्त साधु साध्वियों से विचार विमर्श कर इस क्षेत्र का चुनाव किया गया है। हाँलाकि सम्मेलन आयोजित करने के लिये जयपुर, मालपुरा, रायपुर, भद्रावती, जालना, नगपुरा आदि स्थानों की विनंतियाँ चल रही थी। पर अधिकतर साधु साध्वियों की सुविधा, विहार, व्यवस्थाऐं आदि के आधार पर पालीताना का चुनाव किया गया है।
इस सम्मेलन में 1 मार्च से 9 मार्च तक केवल साधु साध्वियों का सम्मेलन होगा, जिसमें गच्छ विकास, व्यवस्थाऐं, समाचारी आदि विविध विषयों पर विचार विमर्श कर निर्णय किया जायेगा।

ता. 10 से 12 मार्च तक श्रावक सम्मेलन का आयोजन होगा।