Posts

Showing posts with the label maniprabh

Shri JINManiprabhSURIji ms. खरतरगच्छाधिपतिश्री का मालव देश में विचरण

Image
पूज्य गुरुदेव गच्छाधिपति आचार्य प्रवर श्री जिनमणिप्रभसूरीश्वरजी म.सा. आदि ठाणा ता. 10 जनवरी को उज्जैन से विहार कर ता. 13 जनवरी रविवार को इन्दौर नगर में रामबाग दादावाडी प्रवेश करेंगे, जहॉं उनकी पावन निश्रा में ता. 18 जनवरी 2019 को रामबाग दादावाडी की प्रतिष्ठा संपन्न होगी। ता. 19 जनवरी को महावीर बाग श्री चिंतामणि पार्श्वनाथ जिनमंदिर में आचार्य जिनेश्वरसूरि म. की प्रतिमा की प्रतिष्ठा करवाकर वहॉं से विहार कर ता. 22 जनवरी को देपालपुर पधारेंगे, जहॉं उनकी निश्रा में ता. 25 जनवरी को दादावाडी की प्रतिष्ठा संपन्न होगी।
देपालपुर से विहार कर पूज्यश्री इन्दौर पधारेंगे, जहॉं से श्री मदनचंदजी बैद परिवार द्वारा आयोजित अवन्ति पार्श्वनाथ तीर्थ हेतु छह री पालित संघ को अपनी निश्रा प्रदान करेंगे। संघ का प्रस्थान ता. 29 जनवरी को होगा, उज्जैन में ता. 2 फरवरी को प्रवेश करेंगे। उज्जैन नगर में ता. 18 फरवरी 2019 को श्री अवन्ति पार्श्वनाथ तीर्थ की प्रतिष्ठा व दो मुमुक्षुओं का दीक्षा समारोह आयोजित होगा।
प्रेषक मुकेश प्रजापत फोन- 9825105823

KHETIYA . पूज्य गच्छाधिपतिजी का स्वागत मध्यप्रदेश प्रवेश पर मध्यप्रदेश सरकार द्वारा राजकीय अतिथि का दर्जा

Image
पूज्य गुरुदेव खरतरगच्छ अधिपति आचार्य भगवंत श्री जिनकांतिसागरसूरीश्वरजी म.सा. के शिष्य रत्न पूज्य गुरुदेव गच्छाधिपति आचार्य देव श्री जिनमणिप्रभसूरीश्वरजी म.सा. पूज्य मुनि श्री मलयप्रभसागरजी म. तथा पू. महत्तरा पदविभूषिता खानदेश शिरोमणि दिव्यप्रभाश्रीजी म. आदि ठाणा 4 का दिनांक 1 जुलाई 2018 को मध्यप्रदेश सीमा में प्रवेश कर राजकीय सम्मान के साथ खेतिया नगर में प्रवेश हुआ।            खेतिया जैन श्वेतांबर मूर्तिपूजक खरतरगच्छ श्री संघ का उल्लास व आनंद अपूर्व था। पूज्यश्री के मध्यप्रदेश प्रवेश अवसर पर इंदौर, उज्जैन, देपालपुर, शहादा, अक्कलकुवा, खापर, वाण्याविहिर, नंदुरबार, धुलिया, पानसेमल, दोंदवाडा, जलगांव आदि अनेक नगरों से श्रद्धालुओं का बड़ी संख्या में आगमन हुआ।            जैन सोश्यल ग्रुप के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री विजय मेहता ने मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान की ओर से राज्य अतिथि बनाए जाने की घोषणा की, जिसे उपस्थित विशाल जनसमूह ने तुमुल करतल ध्वनि से बधाया।           इस अवसर पर पूज्य आचार्यश्री ने अपने उद्बोधन में कहा कि आज मध्यप्रदेश सीमा में प्रवेश किया है यह व्यवहारिक भाषा है। व्यवस्था की दृ…

Palitana Pravesh जैनों की आस्था स्थली विश्व प्रसिद्ध पालीताणा तीर्थ में आज दि. 14 फरवरी 2016 को गुरुदेव खरतरगच्छाधिपति श्री मणिप्रभसागरजी महाराज आदि विशाल श्रमण-श्रमणी वृंद का भारत के विभिन्न प्रांतों में विचरण करते हुये शोभायात्रा के साथ प्रवेश किया।

Image
प्रात: आठ बजे शत्रुंजय गेट से प्रवेश यात्रा प्रारंभ हुयी जो हरि विहार स्थित आदिनाथ मंदिर के दर्शन करते हुये तलेटी रोड पर झूमते, नाचते, गाचते, नारा लगाते गुरुभक्तों के साथ श्रमण-श्रमणी वृंद ने सिद्धाचल गिरिराज की आराधना-अर्चना की। साथ ही सम्मेलन के सफलता की कामना की।  आज गुरुदेव के महासम्मेलन हेतु प्रवेश समारोह में भाग लेने अहमदाबाद, वडोदरा, मुंबई, रायपुर, सुरत, बाडमेर, बेंगलोर सहित अखिल भारत के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।लगभग 6 दशक बाद तीर्थाधिराज पालिताना में देश भर के खरतरगच्छ के साधू साध्वी एव श्रावक श्राविका का समेलन हो रहा है। गिरिराज आराधना के पश्चात हरि विहार के प्रांगण में स्वागत सभा का आयोजन हुआ।

पूज्य गुरुदेव उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. की निश्रा में होने वाले आगामी महोत्सवों में आप सभी को भावभरा आमंत्रण।

Image
ता. 26 जनवरी 2015 तिरूप्पुर में अंजनशलाका प्रतिष्ठा ता. 2 फरवरी 2015 कोयम्बतूर में अंजनशलाका प्रतिष्ठाता. 27 फरवरी 2015 कन्याकुमारी में अंजनशलाका प्रतिष्ठाता. 7 मार्च 2015 तिरूनलवेली में नवपद पट्ट प्रतिष्ठाता. 25 अप्र्रेल 2015 चैन्नई में माता पुत्र की भागवती दीक्षाता. 26 अप्रेल 2015 चैन्नई में अंजनशलाका प्रतिष्ठाता. 29 मई 2015 सिंधनूर में भागवती दीक्षाता. 25 जुलाई 2015 पूज्यश्री का रायपुर नगर में चातुर्मास हेतु प्रवेश